माया बड़ी ठगनी

माया की माया नगरी में      
सब कुछ बड़ा कमाल
चोर लुटेरे राज कर रहे
नित नए होते धमाल
                     सड़क खुदी बरसो से
                     और नहरे है खाली
                    पुलिस प्रशासन नदारद
                     उपवन लूटे माली
वैसे तो यू पी में
होते रहते है दंगल
पर उन सब में अनोखा
एक ही है गजब का जंगल
                      माया जी की महिमा
                    मूर्तियों में समायी
                    नगर प्रशासन सो रहे
                   अर्थ व्यवस्था धराशायी
जीजी की जी हजूरी में
सब हो रहा बरबाद
अगर ना हो विश्वास
आ जाओ  गाज़ियाबाद
Advertisements

15 responses

  1. माया जी की माया पर एक अच्छा व्यंग !!!

  2. Aap sab ka bahut dhanyawaad maya ji ki dugdugi aur log rahi nach bandariya rang
    Dada thanks:-)

  3. कल 28/12/2011 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्‍वागत है, कौन कब आता है और कब जाता है …

    धन्यवाद!

  4. हा हा हा आ जाओ गाज़ियाबाद …….बहुत खूब ।उम्दा शैली

    1. Ajay ji kya kahen ghaziabad ki vaasi hu aur is khushi mei sabko shamil karne ka man kar raha hai:-)

    1. Vani geet apka blag dekha bahut hi sundar sach kaha aapne maaya ki maya hai upar wala bhi hairaan

  5. it is not a woman against woman ..it is people against corrupt politicians

  6. Hahaha. That was something really commendable. Aisa hi haal kuch humare Etawah ka bhi tha. But ajkal to vare nyare hain humare.
    Regarding Poem
    Just loved it.

शब्दों की झप्पी

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: