साहब की जय हो

यह रचना उन सभी साहब लोगो को समर्पित है जो इस दुनिया में भगवान् द्वारा डाईरेक्ट भेजे गए है…
इन्हें जन्म  लेने के लिए किसी तुच्छ मानव का सहारा नहीं लेना पड़ा
ऐसे नेता/अफसर/पडिंतो को मेरा साष्टांग प्रणाम
आप क्यों पूजा करते है सरकार
आप तो खुद ही देवता है
भगवान्  से ज्यादा जात पात पर मन लगाना
मंत्र कम गालियों का ज्यादा जाप करना
इसका धर्म-उसका कर्म, मन में इतनी कड़वाहट
आप क्यों कष्ट करते है सरकार
आप तो खुद ही देवता है
*
बात बात पर लोगो  को झिड़कना
रात दिन सबपर पर हुकुम चलाना
आप दुनिया का नहीं, दुनिया आपका हिस्सा है
बड़े बड़े अफसर आपके जूते चमकाएं
आप को क्यों चाहिए आशीर्वाद सरकार
आप तो खुद ही देवता है
*
रहनें  दें  यह अगरबत्तियों और मालाओं का खेल
ये धूप बताशो घंटियों की रेल पेल
कल से अपनी मूर्ती को दीजिये ये उपहार
या फिर आइने के सामने खड़े हो
अपनी ही आरती लीजिये उतार
आप ऐसा ही कीजिये सरकार
आप तो खुद ही देवता है
Advertisements

13 responses

  1. ‘आइने के सामने खड़े हो
    अपनी ही आरती लीजिये उतार’ wah kya baat hai, aur jab bechari Maywati yahi kar rahi thi to sab gussa ho rahe the, Bahut nainsaafi hai bhayya is duniya me. bahut badya vyang hai.

  2. रहनें दें यह अगरबत्तियों और मालाओं का खेल
    ये धूप बताशो घंटियों की रेल पेल – loved these lines, thanks for sharing 🙂

  3. इस कविता की जितनी तारीफ की जाए कम होगी।

    सादर

  4. बात बात पर लोगो को झिड़कना
    रात दिन सबपर पर हुकुम चलाना
    आप दुनिया का नहीं, दुनिया आपका हिस्सा है
    achchha lagaa uttam abhivyakati padh kar !!

  5. या फिर आइने के सामने खड़े हो
    अपनी ही आरती लीजिये उतार
    आप ऐसा ही कीजिये सरकार
    आप तो खुद ही देवता है

    Loved it. Inki aarti utarte utarte aapne to inki izzat hi utar di. Bahut khoob

  6. Ye ek kavita nahi, logo ke muh par ek tamacha h…
    aur mujhe ye tamacha bada pasand aya…
    aapke sabdon ne jaadu kar diya..
    loved it mam! 😀

शब्दों की झप्पी

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: